Home hindi एलोपैथिक के साथ ही प्राकृतिक चिकित्सा से भी संभव है रोगों का इलाज – डा. एसडी जोशी

एलोपैथिक के साथ ही प्राकृतिक चिकित्सा से भी संभव है रोगों का इलाज – डा. एसडी जोशी

0
एलोपैथिक के साथ ही प्राकृतिक चिकित्सा से भी संभव है रोगों का इलाज – डा. एसडी जोशी

एलोपैथिक के साथ ही प्राकृतिक चिकित्सा से भी संभव है रोगों का इलाज – डा. एसडी जोशी

साल 2024 में उत्तराखंड के दूरस्थ गांवों में मेडिकल कैंप आयोजित करेगी विचार एक नई सोच संस्था
डॉ एसडी जोशी ने मैनकाइंड कंपनी के सहयोग से जरूरतमंदों को बांटे 60 कम्बल
देहरादून। प्रख्यात वरिष्ठ फिजिशियन डा. एस.डी. जोशी ने कहा है कि एलोपैथिक के साथ ही नेचुरोपैथी से भी मरीजों का इलाज संभव है। उन्होंने कहा कि डॉक्टर मरीज की दोस्ती प्रकृति और पर्यावरण से करा दे तो वह जल्द स्वस्थ हो सकता है। डा. एस.डी. जोशी के नेतृत्व में डाक्टरों का एक ग्रुप अब मरीजों का ईलाज के साथ-साथ उन्हें पर्यावरण के प्रति जागरूकता के लिए प्रेरित करेगा। देहरादून के जोगीवाला चौक बद्रीपुर स्थित शंकर पॉली क्लीनिक में डा. एस.डी. जोशी ने आज एक महत्वपूर्ण प्रेसवार्ता का आयोजन किया। इस दौरान उन्होंने साल 2024 की अपनी कार्ययोजना को सामने रखा। डा. एस.डी. जोशी ने कहा कि मरीज यदि अपनी बीमारी के दौरान प्रकृति से नाता जोड़ लें तो उसे स्वस्थ होने में सहायता मिलेगी साथ ही पर्यावरण के प्रति जागरूकता भी बढ़ेगी। उन्होंने बताया कि यदि सांस का मरीज कहीं लोगों को कूड़ा जलाते हुए देखे तो उसे रोके, इसके अलावा अधिक प्रदूषण वाले वाहन चालक को भी सचेत करे। इसी तरह अन्य लोग भी पर्यावरण जागरूकता को लेकर कार्य करें। उन्होंने कहा कि दून के डॉक्टरों का एक गु्रप इसी तरह मरीजों को नेचर के प्रति जागरूक करने का काम करेगा। गौरतलब है कि नेचुरोपैथी में सभी बीमारियों का इलाज प्राकृतिक तरीके से ही किया जाता है और यह चिकित्सा, थेरेपी, आहार और गतिविधि का एक संयोजन होता है।

गढवाल और कुमांऊ मंडल में लगेंगे निशुल्क हैल्थ कैंपडा. एस.डी. जोशी अभी तक राज्य के विभिन्न जनपदों में 60 से अधिक निशुल्क हैल्थ कैंप लगा चुके हैं। इसमें ईलाज के साथ-साथ दवाईयां व कई तरह की जांचे मुफ्त की जाती हैं। इस साल 2024 की कार्ययोजना की जानकारी देते हुए डा. एस.डी. जोशी ने बताया कि फरवरी माह में चमोली जिले के देवालखंड के खेता गांव में एक निशुल्क मेडिकल कैंप का आयोजन किया जाएगा। यह कैंप विचार एक नई सोच संस्था के साथ मिलकर आयोजित किया जाएगा। इसके बाद सिलक्यारा टनल के निकट ब्रह््र्रमखाल, चमोली के मेल्ठा में भी मेडिकल कैंप लगाया जाएगा। इसके साथ ही कुमांऊ मंडल के सीमांत जनपदों में निशुल्क हैल्थ कैंप लगाने की योजना है। हैल्थ कैंप के अलावा एक जून को हर साल की तरह विषाल रक्तदान शिविर का आयोजन किया जाएगा। इसके बाद 01 जुलाई में डॉक्टर्स डे पर डॉक्टरों और सामाजिक क्षेत्र में कार्य करने वाली विभूतियों को सम्मानित किया जाएगा।

मैनकाइंड कंपनी के सहयोग से जरूरतमंदों को बांटे कंबलवहीं इस मौके पर डा. एस.डी. जोशी ने प्रसिद्व दवा कंपनी मैनकाइंड कंपनी के सहयोग से जरूरतमंदों को 60 से अधिक कंबल भी वितरित किये। डा. एस.डी. जोशी ने कहा पिछले कई सालों से वह हर साल सर्दियों में मैनकाइंड कंपनी के सहयोग से जरूरतमंदों को कंबल वितरित करते हैं। यही नहीं वह जो निषुल्क हैल्थ कैंप लगाते हैं उसमें भी मैनकाइंड कंपनी निशुल्क दवाईंयां मुहैया कराती है। डा. एस.डी. जोशी ने कहा मैनकाइंड कंपनी समाजिक क्षेत्र में भी बहुत अच्छा कार्य कर रही है। प्रेसवार्ता में उनके साथ मैनकाइंड के मैनेजर अमित गुप्ता और रवि शर्मा भी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here