Home hindi सूबे के लिये संजीवनी बनी आयुष्मान योजना

सूबे के लिये संजीवनी बनी आयुष्मान योजना

0
सूबे के लिये संजीवनी बनी आयुष्मान योजना

सूबे के लिये संजीवनी बनी आयुष्मान योजना

अबतक 54 लाख लोगों के बने कार्ड, 10 लाख मरीजों ने उठाया लाभ
राज्य सरकार निःशुल्क योजना पर खर्च कर चुकी 1900 करोड़ की धनराशि
देहरादून। सूबे में आयुष्यान योजना बहुत बड़ी राहत के तौर पर सामने आई है। राज्य में इस योजना के तहत अबतक 54 लाख से अधिक लोगों के आयुष्मान कार्ड बनाए जा चुके हैं। जबकि लगभग दस लाख मरीजों का उपचार योजना के तहत किया जा चुका है। जिस पर सरकार ने लगभग 1900 करोड से अधिक़ की धनराशि खर्च कर दी है।
उत्तराखंड सरकार प्रदेश के आम लोगों तक बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए लगातार सार्थक प्रयास कर रही है। राज्य में संचालित आयुष्मान योजना प्रदेश के लोगों के लिये संजीवनी का काम कर रही है। राज्य में अबतक लगभग 10 लाख लोग आयुष्मान योजना के तहत अपना निःशुल्क उपचार कर चुके हैं, जिस पर राज्य सरकार 1900 करोड़ से अधिक की धनराशि व्यय कर चुकी है। इस योजना के अंतर्गत राज्य में अबतक 54 लाख से अधिक लोगों के आयुष्मान कार्ड बनाये जा चुके हैं। सरकार का लक्ष्य मार्च 2024 तक प्रदेश में पांच वर्ष से अधिक आयु वर्ग के शतप्रतिशत लोगों के आयुष्मान कार्ड बनाने का है ताकि प्रदेश के सभी लोगों को इस योजना से कवर किया जा सके।
सुकून देते आंकड़े
जनपद आयुष्मान कार्ड उपचारितअल्मोड़ा 272763 27086बागेश्वर 119867 11829चमोली 211040 35610चंपावत 125272 17444देहरादून 1112592 268779हरिद्वार 908322 171210नैनीताल 516223 87359पौड़ी गढ़वाल 389934 82841पिथौरागढ़ 228072 31008रूद्रप्रयाग 127111 21798टिहरी 332797 58358यूएस नगर 888549 149295उत्तरकाशी 186226 33272कुल 5418768 995889
बयान प्रदेश में आयुष्मान योजना के अंतर्गत प्रतिवर्ष प्रति व्यक्ति के लिये 5 लाख रूपए तक के मुफ्त उपचार की सुविधा है। आंकड़ों पर अगर गौर करें तो यह राज्य के लिए किसी संजीवनी से कम नहीं है। सरकार का मकसद राज्य में शतप्रतिशत लोगों को इस योजना के तहत कवर करना है इसके लिये व्यापक स्तर पर लगातार प्रयास किये जा रहे हैं- डॉ धन सिंह रावत, स्वास्थ्य मंत्री, उत्तराखंड सरकार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here